सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड सुविधा के साथ विकास, भरोसा और सुरक्षा.

  • सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड लाभ
  • सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड विशेषताएं
  • सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड 2022-23

सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड : सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड लाभ

  • डिमैट प्रारुप में धारित गोल्‍ड बॉण्‍ड
  • भौतिक रुप से सोने को रखने का कोई झंझट नहीं
  • रिडेम्पशन पर कोई कैपिटल गेन टैक्स नहीं
  • ऑनलाइन निवेशकों के लिए छूट
  • ऋण के लिए संपार्श्विक के रूप में प्रयोग किया जा सकता है
  • रिडेम्पसन (मोचन) सोने के प्रचलित मूल्य से संबद्ध

सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड : सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड विशेषताएं

न्यूनतम और अधिकतम निवेश :

इस बॉन्ड में किया जाने वाला न्यूनतम निवेश 1 ग्राम है. प्रत्येक व्यक्ति या हिन्दू अविभक्त परिवार (HUF) ऐसे बॉन्ड में प्रत्येक वर्ष अधिकतम 4 किलोग्राम तक सोना रख सकता है. ट्रस्टों, धर्मार्थ संस्थानों के लिए, अधिकतम सीमा 20 किलोग्राम है.


निश्चित ब्याज दर :

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड पर 2.5% वार्षिक की दर से ब्याज अर्जित होता है जिसका भुगतान अर्ध वार्षिक आधार पर किया जाएगा.


कीमतों में पारदर्शिता :

गोल्ड बॉन्ड की कीमतें पारदर्शी होती है क्योंकि वे बाजार में सोने की कीमतों से संबद्ध होती हैं.


निकास विकल्प :

बॉन्ड जारी होने की तारीख के 5 वें वर्ष के बाद निवेशकों के लिए एक निकास विकल्प है. इसकी चुकौती ब्याज भुगतान की अगली तिथि पर की जाएगी.


संयुक्त धारकों और नामितियों की अनुमति है:

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड निवेशकों को संयुक्त धारक और नामिति रखने का विकल्प देता है.


स्टॉक एक्सचेंज में व्यापार किए गए बॉन्ड:

डीमैट रूप में धारित बॉन्ड स्टॉक एक्सचेंजों पर कारोबार के लिए पात्र होंगे.


भुगतान का प्रकार

भारत में सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड के भुगतान के लिए नकद, मांग ड्राफ्ट, चेक अथवा इंटरनेट बैंकिंग जैसे माध्यम स्वीकार्य है. तथापि, नकदी रु. 20,000/- तक ही स्वीकार की जाएगी.


सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड : सॉवरेन गोल्ड बॉण्ड 2022-23

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2022-23 (सिरीज - I ) : 20 जून 2022 से 24 जून, 2022 तक

एसजीबी - सिरीज - 2022-23-सिरीज I के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,091/- प्रति ग्राम है और भारत सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक के परामर्श से ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिए नाममात्र मूल्य से कम अर्थात इस मूल्य पर रू. 50/- प्रति ग्राम की छूट देने का निर्णय लिया है. ऐसे निवेशकों के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,041 प्रति ग्राम होगा.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2022-23 (सिरीज -II) 22nd अगस्त 2022 to 26th अगस्त, 2022.

एसजीबी - सिरीज - 2022-23-सिरीज II के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,197/- प्रति ग्राम है और भारत सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक के परामर्श से ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिए नाममात्र मूल्य से कम अर्थात इस मूल्य पर रू. 50/- प्रति ग्राम की छूट देने का निर्णय लिया है. ऐसे निवेशकों के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,147 प्रति ग्राम होगा.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड योजना 2022-23 (सिरीज - III ) : 19 दिसंबर 2022 से 23 दिसंबर 2022 तक

एसजीबी - सिरीज - 2022-23-सिरीज III के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,409/- प्रति ग्राम है और भारत सरकार ने भारतीय रिजर्व बैंक के परामर्श से ऑनलाइन आवेदन करने वाले निवेशकों के लिए नाममात्र मूल्य से कम अर्थात इस मूल्य पर रू. 50/- प्रति ग्राम की छूट देने का निर्णय लिया है. ऐसे निवेशकों के लिए निर्गम मूल्य रू. 5,359 प्रति ग्राम होगा.

सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड 2022-23, सिरीज I, II & III

भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा की गई घोषणा के अनुसार सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड, ट्रेंच I, II & III की अनुसूची निम्न अनुसार है. इसके प्रावधानों के अनुसार केंद्र सरकार द्वारा पूर्व सूचना देकर नीचे दर्शायी गई अवधि से पहले इस योजना को बंद किया जा सकता है.

क्र.सं. ट्रेंच अभिदान की तारीख निर्गम तारीख
1 2022-23- सिरीज I 20 - 24 जून, 2022 28 जून, 2022
2 2022-23 सिरीज II 22 - 26 अगस्त, 2022 30 अगस्त, 2022
3 2022-23 सिरीज III 19 - 23 दिसंबर, 2022 दिसंबर 27, 2022

निवेश के लिए पात्रता

इस योजना के तहत गोल्ड बॉन्ड्स किसी न्यास, एचयूएफ, चैरिटेबल संस्थान, यूनिवर्सिटी या भारत में रहने वाले किसी व्यक्ति की या नाबालिग बच्चे के लिए अथवा किसी अन्य व्यक्ति के साथ संयुक्त रूप से लिया जा सकता है.


प्रतिभूति का स्वरूप

यह गोल्ड बॉन्ड्स फॉर्म 'सी' में विनिर्दिष्ट स्टॉक सर्टिफिकेट के रूप में जारी किए जाएंगे.
यह गोल्ड बॉन्ड्स डीमैट स्वरूप में परिवर्तित किए जाने के लिए पात्र होंगे.


आवेदन

शाखाओं द्वारा अभिदान हेतु निर्धारित सप्ताहों में सामान्य बैंकिंग कार्यावधि के दौरान निवेशकों से आवेदन प्राप्त किए जाएंगे.


निर्गम की तारीख

जारी करने की तारीख उपर्युक्त उल्लिखित विवरण के अनुसार होगी.


मूल्यवर्ग

बॉण्ड का मूल्यवर्ग (डिनॉमिनेशन) एक ग्राम सोना और इसके गुणकों में होगा. बॉण्ड में निवेश की न्यूनतम सीमा एक ग्राम होगी तथा अधिकतम अभिदान सीमा प्रति वित्त वर्ष (अप्रैल–मार्च) व्यक्तियों के लिए 4 किलोग्राम, हिन्दू अविभक्त परिवार(एचयूएफ़) के लिए 4 किलोग्राम और न्यास (ट्रस्ट) और इस तरह की संस्थाएं जो भारत सरकार द्वारा समय-समय पर जारी अधिसूचना के अनुसार होगी, के लिए 20 किलोग्राम होगी.


ब्याज

बॉण्ड के अंकित मूल्य पर निर्गम जारी करने की तारीख से प्रति वर्ष 2.5 % की दर (स्थायी दर) से ब्याज का भुगतान किया जाएगा. ब्याज छमाही आधार पर दिया जाएगा तथा अंतिम ब्याज परिपक्वता पर मूलधन के साथ देय होगा.


भुगतान

बॉण्ड जारी होने की तारीख से आठ वर्षों के बाद देय होगा. बॉण्ड के परिपक्वता पूर्व भुगतान की अनुमति इसके जारी होने की तारीख से पांचवे वर्ष से होगी तथा ऐसा भुगतान अगले ब्याज भुगतान की तारीख को किया जाएगा.
बॉण्ड का भुगतान मूल्य भारतीय रुपये में निर्धारित किया जाएगा जो भुगतान की तारीख से पिछले सप्ताह में भारतीय बुलियन एवं ज्वेलर्स संघ लिमिटेड द्वारा अंतिम तीन कार्यदिवस हेतु 999 मार्क शुद्ध सोने के लिए जारी बाजार बंद होने के समय के भाव के साधारण औसत मूल्य पर आधारित होगा.
आरबीआई/ डिपॉजिटरी द्वारा गोल्ड बॉण्ड की परिपक्वता से एक माह पहले निवेशक को परिपक्वता तारीख की सूचना दी जाएगी.
*सॉवरेन गोल्ड बॉन्ड्स के एवज में ऋण ऋणदाता बैंक / संस्था के निर्णय के अधीन होगा और यह स्वर्ण गोल्ड बांड धारक के अधिकार के रूप में नहीं माना जाएगा.


कर उपाय

बॉण्ड से अर्जित ब्याज आयकर अधिनियम, 1961 (43 of 1961). के प्रावधानों के अनुसार करयोग्य होगा. व्यक्तियों को स्वर्ण गोल्ड बांड के भुगतान से अर्जित होने वाले पूंजीगत लाभ पर कर में छूट प्राप्त है. बॉण्ड के हस्तांतरण से किसी को प्राप्त दीर्घावधि पूंजीगत अभिलाभ पर सूचकांक लाभ (इन्डेक्सेशन बेनिफिट) प्रदान दिया जाएगा.


संयुक्त धारिता एवं नामांकन

इसमें संयुक्तधारकों तथा नामितियों की (पहले धारक की) अनुमति है. संयुक्त धारिता के मामले में, -4- किलोग्राम की निवेश सीमा केवल प्रथम आवेदक पर लागू होगी.

नामांकन एवं इसका निरस्तीकरण क्रमश: फॉर्म ‘डी’ एवं ‘ई’ में किया जाना चाहिए.

किसी अनिवासी भारतीय को उसके नाम पर किसी मृत निवेशक का नामिति होने पर उसके नाम अंतरित प्रतिभूति मिल सकती है, बशर्तें कि:

  • अनिवासी निवेशक द्वारा निर्धारित समय से पूर्व भुगतान कराने या इसकी परिपक्वता तक प्रतिभूति को धारण आवश्यक होगा; तथा
  • निवेश की ब्याज और परिपक्वता की प्राप्तियां प्रत्यावर्तनीय नहीं होगी.

हस्तांतरणीयता

स्टॉक सर्टिफिकेट के रूप में जारी बॉन्ड्स फार्म ‘एफ’ के अनुसार लिखत (इंस्टूमेंट) के निष्पादन द्वारा हस्तांतरणीय होंगे.


ट्रेडिंग योग्यता

भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा अधिसूचित तारीख से बॉण्ड ट्रेडिंग के लिए पात्र होगा. (यह नोट किया जाए कि डिपॉजिटरी के साथ केवल डीमैट फॉर्म में रखे गए बॉन्ड्स की ही शेयर बाज़ार में खरीद-बिक्री की जा सकती है).


अपने ग्राहक को जानिए (केवायसी) आवश्यकताएं

प्रत्येक आवेदन आयकर विभाग द्वारा निवेशकों (व्यक्तियों और अन्य संस्थाओं) को जारी किए गए 'पैन विवरण' के साथ होना चाहिए. केवाईसी दस्तावेज जैसे मतदाता पहचान पत्र, आधार कार्ड / पैन या टैन / पासपोर्ट आवश्यक होगा.


निरस्तीकरण

निर्गम के बंद होने तक अर्थात् सब्स्क्रिप्शन के विशिष्ट सप्ताह के दौरान के शुक्रवार तक आवेदन के निरस्तीकरण की अनुमति होगी. गोल्ड बॉन्ड्स खरीदने के लिए प्रस्तुत आवेदन के आंशिक निरस्तीकरण की अनुमति नहीं होगी.


ग्रहणाधिकार चिन्हित करना

इन बॉन्ड्स के सरकारी प्रतिभूति होने के कारण, ग्रहणाधिकार अंकन आदि सरकारी प्रतिभूति अधिनियम, 2006 के मौजूदा नियम एवं कानूनी प्रावधानों के अनुसार होगा.

भारत में बैंक ऑफ़ बड़ौदा की सभी शाखाएँ स्वर्ण गोल्ड बांड जारी करने के लिए अधिकृत हैं.

कॉलबैक अनुरोध

कृपया यह विवरण भरें, ताकि हम आपको वापस कॉल कर सकें और आपकी सहायता कर सकें.

चयन करें Government Deposit Schemes Type
  • वरिष्ठ नागरिक बचत योजना

Thank you [Name] for showing interest in Bank of Baroda. Your details has been recorded and our executive will contact you soon.

अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

  • What is Sovereign Gold Bond (SGB)? Who is the issuer?

    A sovereign gold bond (SGB) is a government security that is denominated in gold grams. Bonds issued by GOI that hold the value of Gold denominated in grams in the form of bond.

  • Why should I buy SGB rather than physical gold? What are the benefits?

    One should buy SGB rather than physical gold because there is no risk of theft, damage or storage. The benefits are:-

    • Saves cost of locker rent
    • Earns interest @ 2.5% payable H.Y to the holder of SGB unlike physical gold
    • Can be used as a collateral for loans
    • Is freely transferred to others
    • Tradable on stock exchange
  • Are there any risks in investing in SGBs?

    No, there is no risks in investing in SGBs.

  • Who is eligible to invest in the SGBs?

    Trust, HUFs, Charitable Institutions, University or resident Indian are eligible to invest in the SGBs.

  • Will joint holding be allowed?

    Yes, joint holding will be allowed under mode of operation Anyone or Survivor, Either or Survivor.

  • Can a Minor invest in SGB?

    No, minor cannot invest in SGB. But an individual, in his capacity as such individual, or on behalf of minor child, can invest.

  • Where can investors get the application form?

    The investors can get the application form through any BoB branch or website.

  • Can an investor hold more than one investor ID for subscribing to the Sovereign Gold Bond?

    No, there should be only one Investor ID for one subscriber.

  • What is the minimum and maximum limit for investment?

    The limit for investment is:
    Minimum -1gm
    Maximum Subscription - Individual 4 kg
    HUF – 4 kg
    Trusts – 20 kg

  • Can each member of my family buy 4Kg in their own name?

    Yes, every application must be accompanied by the ‘PAN details’ issued by the Income Tax Department to the investor(s).

  • Can an investor/trust buy 4 Kg/20 Kg worth of SGB every year?

    Yes, an investor/trust can buy 4 Kg/20 Kg worth of SGB every year.

  • Is the maximum limit of 4 Kg applicable in case of joint holding?

    In case of joint holding, the limits of 4Kg shall be applicable to the first applicant only.

  • What is the rate of interest and how will the interest be paid?

    Earns interest @ 2.5% payable half yearly to the holder of SGB unlike physical gold.

  • When will the customers be issued Holding Certificate?

    After completion of settlement the customers will be issued Holding Certificate.

  • Can I apply for Sovereign Gold Bonds online?

    Yes, through NET Banking it can apply for Sovereign Gold Bonds online.

  • At what price the bonds are sold?

    The bonds are sold as per the decision by RBI.

  • How will I get the redemption amount?

    The redemption amount will get through operative SB account.

  • What are the procedures involved during redemption?

    The lock-in period of the bond is 8 years, although a customer becomes eligible for early redemption after completion of 5 years. The customer can apply for redemption only when RBI comes up with the redemption window for the specific tranche which is around the interest due date.

  • Can I encash the bond anytime I want? Is premature redemption allowed?

    The lock-in period of the bond is 8 years, although a customer becomes eligible for early redemption after completion of 5 years. The customer can apply for redemption only when RBI comes up with the redemption window for the specific tranche which is around the interest due date.

  • Can I use these securities as collateral for loans?

    Yes, one can use these securities as collateral for loans.

  • What are the tax implications on i) interest and ii) capital gain?

    Earns interest @ 2.5% payable H.Y to the holder of SGB unlike physical gold.

  • Can I trade these bonds?

    Yes, you can trade these bonds if bond is purchased or converted in DEMAT form.

  • What is the procedure to be followed in the eventuality of death of an investor?

    As per the guidelines issued by RBI, on the death of the SGB Holder, the name of the nominee will be substituted as the bond holder in place of the deceased holder and a fresh certificate will be issued under proper authentication.

  • Can I get part repayment of these bonds at the time of exercising put option?

    No, one cannot get the part repayment of these bonds at the time of exercising put option.

Add this website to home screen

Are you Bank of Baroda Customer?

This is to inform you that by clicking on continue, you will be leaving our website and entering the website/Microsite operated by Insurance tie up partner. This link is provided on our Bank’s website for customer convenience and Bank of Baroda does not own or control of this website, and is not responsible for its contents. The Website/Microsite is fully owned & Maintained by Insurance tie up partner.


The use of any of the Insurance’s tie up partners website is subject to the terms of use and other terms and guidelines, if any, contained within tie up partners website.


Proceed to the website


Thank you for visiting www.bankofbaroda.in

X
We use cookies (and similar tools) to enhance your experience on our website. To learn more on our cookie policy, Privacy Policy and Terms & Conditions please click here. By continuing to browse this website, you consent to our use of cookies and agree to the Privacy Policy and Terms & Conditions.