नवोन्मेषी पहल

भारतीय बैंकिंग क्षेत्र में विविध ग्राहक-केन्द्री पहलों में बैंक ऑफ़ बड़ौदा हमेशा अग्रणी रहा है. बैंकिंग उद्योग में हमारे बैंक ने सर्वप्रथम नया ब्रांड सर्वसमावेशक तरीके से लागू किया और ‘लोगो’ में परिवर्तन के साथ-साथ विविध नवोन्मेषी ग्राहक-केन्द्री पहलें भी लागू कीं. इन पहलों में विशेषीकृत एनआरआई शाखाओं, जेन नेकस्ट शाखाओं की और रिटेल लोन फैक्ट्रीज / एसएमई लोन फैक्ट्रीज की स्थापना शामिल थे. लोन फैकट्रीज की स्थापना ऋणों के अविलंब वितरण हेतु प्रस्ताव की संवीक्षा और संपूर्ण कार्यपद्धति को एक ही स्थान पर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से की गई थी.

बैंक की प्रमुख कार्यान्वित की जा रही कुछ पहलों का विवरण निम्नानुसार हैं :

प्रोजेक्ट नवोदय

बैंक ने प्रोजेक्ट नवोदय के रूप में एक महत्वपूर्ण व्यवसाय रूपांतरण आरंभ किया है जिसके तहत बैंक की व्यवसाय इकाइयों एवं सहयोगात्मक कार्यों के संबंध में अनेक पहलें की जा रही हैं. “प्रोजेक्ट नवोदय” के अंतर्गत निम्नलिखित 3 बातों पर बल दिया गया है. (1) कोर कारोबार का रूपांतरण एवं मुद्रीकरण. (2) डिजिटल, शेयर्ड सेवाएं, एनालिटिक्स एवं संबंध प्रबंधन जैसे प्राथमिकता क्षेत्रों में अगली पीढ़ी की क्षमताएं विकसित करना. (3) बैंक में समग्र तौर पर सुदृढ़ नियंत्रण एवं अनुपालन की संस्कृति निर्मित करते हुए संस्था का विकास करना एवं प्रतिभा का सर्वाधिक उपयोग करना.
राष्ट्रीयकृत बैंकों की श्रेणी में यह पहला बैंक है जिसने संपूर्ण स्वामित्व वाली अलग अनुषंगी के रूप में गिफ्ट सिटी, गांधीनगर में अपनी अलग साझा सेवा केंद्र की स्थापना की है. इससे पूर्व ये कार्य विभिन्न स्थानों पर हो रहे थे. इस पहल से टर्न अराउंड टाइम में कमी और बिक्री व सेवा क्षेत्र के फ्रंट लाइन कर्मचारियों के मानव घंटों में बचत के साथ-साथ उच्च पारदर्शिता, मानकीकरण एवं बड़े पैमाने पर कार्य इत्यादि को भी बढ़ावा मिल रहा है.

मानवसंपत्ति संबंधी पहलें

बैंक के पास सक्षम और प्रेरित कर्मचारियों की परिसंपत्ति है, जो बैंक के विश्वभर में फैले व्यापक कारोबार परिचालनों को संभाल रहे हैं. अपने प्रबंधकों को भारतभर में और विश्वभर में कार्य करने का अवसर देने, विविध कार्यों को संबल देने के लिए विभिन्न कार्यों के विशेषज्ञों को सेवा में लेना और संकल्पनामूलक, प्रबंधकीय और नेतृत्व कौशल दिलाकर अपने स्टाफ की तकनीकी क्षमताओं को मजबूत करने जैसे नीतिगत मानव संसाधन पहलों ने बैंक को स्पर्धाक्षम बनाया है. प्रभावशाली सुसंगतिपूर्ण काम का माहौल बनाने के लिए मानव संपत्ति विषयक पहलों को औद्योगिक संबंधों के साथ जोड़ दिया गया है, ताकि हर एक की उन्नति सुनिश्चित हो सके.

बैंक की मानव संसाधन नीतियां और स्‍ट्रेटेजिक मानव संसाधन विकास पहलों ने कारोबार अग्रणियों के लिए बैंक ने विकास हेतु प्‍लैटफॉर्म प्रदान किया है. बैंक ने उद्यम को कई अग्रणी प्रदान किए है जिन्होंने अन्य महान संस्थानों का निर्माण किया है. बैंक की मानव संसाधन पहलों का विवरण निम्नलिखित लिंक में दिया गया है : https://www.bankofbaroda.in/about-us/human-resources

नया टेक्नॉलॉजी प्लैटफॉर्म

बैंक ने एंड-टू-एंड व्यवसाय में और सूचना प्रौद्योगिकी नीति परियोजना में, जिसमें बैंक के देशी, विदेशी और अनुषंगियों के परिचालनों का समावेश है, काफी प्रगति की है. सभी शाखाएं, भारत में विस्तार पटल, विदेशी व्यवसाय और पांच क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों में कोर बैंकिंग सोल्यूशन (सीबीएस) लागू किया गया है.

बैंक अपने ग्राहकों को इंटरनेट बैंकिंग यानी बडौदा कनेक्ट और अन्य सुविधाएं, जैसे – प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों तथा कुछ राज्य सरकारी करों का ऑनलाइन भुगतान, युटिलिटी बिलों का भुगतान, रेल टिकटों का आरक्षण, ऑनलाइन शॉपिंग, मंदिरों को अभिदान और संस्थाओं की फीस का भुगतान की सुविधा दे रहा है. भारत भर में बैंक के एटीएम का बड़ी संख्या में विस्तार है और बैंक ने चुनिंदा केन्द्रों में भ्रमणशील एटीएम भी आरंभ किए हैं. कॉर्पोरेट ग्राहकों को सीधे वेतन अपलोड, ट्रेड वित्त और राज्य करों के भुगतान इत्यादि जैसी सुविधाएं कार्पोरेट ग्राहकों को देने के लिए कदम उठाए गए हैं. बैंक ने मोबाइल बैंकिंग (बड़ौदा एम कनेक्ट) और प्रीपेड गिफ्ट कार्ड भी आरंभ किया है.

बैंक ने अपनी महत्त्वपूर्ण टेरीटोरीज में जैसे, इंग्लैंड, संयुक्त अरब अमीरात, बहामाज, बहारीन, हांगकांग, सिंगापूर और बेल्जिमय में वैश्विक ट्रेजरी सोल्यूशन कार्यान्वित किया है. मुंबई के डाटा सेंटर के माध्यम से केन्द्रीकृत स्विफ्ट गतिविधि का कार्यान्वयन, एंटी मनी लाडरिंग जांच के साथ भुगतान मेसेजिंग सेवा, एंटी मनी लाडरिंग अनुपालन और ऑनलाइन लिस्ट मैचिंग सोल्यूशन जैसी विविध तंत्रज्ञान पहलें विदेशी परिचालनों में लागू की हैं. युगांडा, बोत्सवाना, संयुक्त अरब अमीरात, न्यूझीलैंड, केनया, मॉरीशस और सेशेल्स के अपने ग्राहकों के लिए बैंक ने संव्यवहार आधारित इंअरनेट बैंकिंग सुविधा आरंभ की है. साथ ही फिजी, ओमान, तांजानिया और इंग्लैंड में व्यू आधारित ई बैंकिंग सुविधा का आरंभ किया गया है.

मार्केटिंग पहलें

2005 में ब्रैंड के नये अवतार के बाद बैंक ने निरंतर रूप से अपनी मुख्य मजबूती जैसे व्यापक अंतर्राष्ट्रीय उपस्थिति, तकनीकी आधुनिकता और सर्वश्रेष्ठ ग्राहक सेवा इत्यादि पर विशेष ध्यान दया है. बैंक ने अपने सब ब्रैंड बड़ौदा नेकस्ट – स्टेट ऑफ द आर्ट-स्ट्रेट फ्रॉम द हार्ट को लागू किया, जिसका उद्देश्य यह दिखाना था कि बैंक ने ग्राहकों को श्रेष्ठ अनुभव दिलाने और दीर्घायु संबंध स्थापित करने के लिए टेक्नॉलॉजी का किस प्रकार बखूबी इस्तेमाल किया है. इंटरनेट बैंकिंग, एटीएम, मोबाइल बैंकिंग इत्यादि जैसे वैकल्पिक डिलीवरी चैनेल्स और रिटेल लोन फैक्ट्री, सिटी सेल्स ऑफिस इत्यादि जैसे पुख्ता डिलीवरी कार्यालयों के माध्यम से सब ब्रैंड को प्रभावी तरीके से स्थापित किया जा रहा है. अपने शाखा / एटीएम नेटवर्क को मजबूत बनाने के साथ साथ विविध संपर्क स्थानों पर सुधी स्टाफ द्वारा व्यक्तिपरक सेवाओं को सुनिश्चित करने से ग्राहक संपर्क-संवाद और संतुष्ट‍ि में वृद्धि हुई है. इस प्रकार बैंक ने प्रगत तंत्रज्ञानयुक्त ग्राहक केन्द्री बैंक के रूप में अपनी छवि बनाई है.

कॉर्पोरेट सामाजिक दायित्त्व (सीएसआर) पहल

शिक्षा, स्वास्थ्य, मानव कल्याण एवं अन्य सामाजिक गतिविधियों के क्षेत्र में विभिन्न विकास संबंधी गतिविधियों के माध्यम से समाज के सामाजिक एवं आर्थिक विकास में सक्रिय योगदान देने की बैंक की पुरानी परंपरा है. बैंक ऑफ़ बड़ौदा हमेशा व्यवसाय हितों से आगे बढ़कर समाज के कमजोर वर्ग तक पहुंचने के लिए प्रयासरत रहता है जिससे उनके जीवन में अर्थपूर्ण बदलाव लाया जा सके.

बेरोजगार ग्रामीण युवा वर्ग को प्रशिक्षण एवं सहायता उपलब्ध करवाकर निरंतर आधार पर स्व रोजगार को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बैंक ने सात राज्यों में 64 बड़ौदा स्वरोजगार विकास संस्थान (बड़ौदा-आर-सेटी) की स्थापना की है. 31.03.2020 तक बड़ौदा आरसेटी ने 5,03,145 युवाओं को जिनमें 85,685 अजा, 1,11,296 अजजा, 42,645 अल्प संख्यक एवं 1,57,231 अन्य पिछ्ड़ा वर्ग समुदाय के लोग शामिल हैं, को प्रशिक्षित किया है.

ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में वित्तीय परामर्श सेवाएं, वित्तीय साक्षरता एवं बैंकिंग सेवाओं के प्रति जागरूकता लाने के लिए बैंक ने ‘सारथी’ के नाम से नौ राज्यों में 87 वित्तीय साक्षरता एवं ऋण परामर्श केंद्रों (एफएलसीसी) की स्थापना की है. स्थापना से अब तक 30,94,565 लोग एफएलसीसी की सेवाओं से लाभ ले चुके हैं.

बैंक अन्य गतिविधियाँ अर्थात स्वास्थ्य सेवा, स्वच्छता, शिक्षा / साक्षरता, पेयजल सुविधा, कंपनी अधिनियम 2013 की अनुसूची VII के तहत सूचीबद्ध अन्य पात्र गतिविधियां भी करता है.

वर्ष 2019-20 के दौरान, बैंक ने सीएसआर के तहत विभिन्न गतिविधियों में निम्नानुसार व्यय किया है:

वर्ग राशि (रु. लाख में)
शिक्षण एवं कला विकास 402.89
स्वास्थ्य एवं देखभाल 79.57
सामाजिक-आर्थिक विकास 64.98
कुल 547.44

भविष्य

परिचालनात्मक वातावरण में परिवर्तनकारी और बारबार बदलाव इस बात का संकेत देते हैं कि व्यावसायिक सफलता ‘स्थायी’ नहीं होती. टेक्नॉलॉजी में बैंक ने काफी प्रगति की है और सुसूत्रता स्थापित करने के लिए बहुविध मंचों को समाहित करने की प्रक्रिया निरंतर रूप से जारी है. दीर्घायु संबंधों को स्थापित करने तथा श्रेष्ठ ग्राहक सेवा देने के साथ साथ गतिशील आर्थिक वातावरण के अनुरूप अपने आपको ढालने के लिए बैंक के प्रयास निरंतर रूप से जारी हैं.

ग्राहक परितोष के लिए बैंक निरंतर प्रयास कर रहा है और ये प्रयास मजबूत मूलभूत सिध्दांतों पर आधारित हैं. ये बैंक को अधिक मजबूत, बदलावों के लिए अनुकूल बना रहे हैं और सार्वधिक पसंद का बैंक बनने का सपना इन्हीं से साकार होगा.

Are you Bank of Baroda Customer?

This is to inform you that by clicking on continue, you will be leaving our website and entering the website/Microsite operated by Insurance tie up partner. This link is provided on our Bank’s website for customer convenience and Bank of Baroda does not own or control of this website, and is not responsible for its contents. The Website/Microsite is fully owned & Maintained by Insurance tie up partner.


The use of any of the Insurance’s tie up partners website is subject to the terms of use and other terms and guidelines, if any, contained within tie up partners website.


Proceed to the website


Thank you for visiting www.bankofbaroda.in

X
We use cookies (and similar tools) to enhance your experience on our website. To learn more on our cookie policy, Privacy Policy and Terms & Conditions please click here. By continuing to browse this website, you consent to our use of cookies and agree to the Privacy Policy and Terms & Conditions.