Connecting rural India to mainstream banking.


Empowering farmers by offering loans and instant banking solutions.

Loans & Advances

  • Search
  • Filter
    Filter by
    Category
    • All
    • Agricultural Infrastructure
    • Ancillary Services
    • Farm Credit
    Sub Category
    • All
    • Agri Allied Activities
    • Construction of Farm Structures
    • Crop Production
    • Farm Mechanization
    • Gold Loan
    • Other Activities
    • SHG or JLG or FPO

Filter by

Category
  • All
  • Agricultural Infrastructure
  • Ancillary Services
  • Farm Credit
Sub Category
  • All
  • Agri Allied Activities
  • Construction of Farm Structures
  • Crop Production
  • Farm Mechanization
  • Gold Loan
  • Other Activities
  • SHG or JLG or FPO

  • ट्रैक्टर के लिए नई योजना

  • कृषि के अंतर्गत खाद्य और कृषि आधारित इकाइयों को अग्रिम

    • कार्यशील पूंजी के लिए 12 महीने
    • मीयादी ऋण के लिए 84 माह तक, (12 माह तक की अधिस्थगन अवधि सहित), वार्षिक समीक्षा के अधीन.
  • कृषि स्नातकों द्वारा एग्रीकलीनिक एवं एग्री बिजनेस केंद्रों की स्थापना

    • कृषि उद्यमियों के कारोबार मॉड्यूल (कृषि व्यवसाय), स्थानीय आवश्यकताओं और किसानों के लक्ष्य समूह के सामर्थ्य के अनुसार निःशुल्क या भुगतान आधार पर सार्वजनिक प्रयासों के क्रम में एग्रीक्लिनिक और एग्रीबिजनेस केन्द्रों की स्थापना हेतु.
    • मान्यता प्राप्त प्रबंधन संस्थानों द्वारा कृषि के उभरते क्षेत्र में प्रशिक्षित युवकों सहित कृषि स्नातक, कृषि यांत्रिकी, बागवानी, पशुपालन, वानिकी, डेयरी, पशु विज्ञान, मत्स्य पालन और अन्य संबद्ध गतिविधियों में लगे बेरोजगार युवक.
  • कृषि भूमि विकास ऋण

    • छोटे एवं सीमांत कृषक हेतु- 9-15 वर्ष
    • अन्य कृषकों हेतु – अधिकतम 7 वर्ष, एक वर्ष की अधिस्थगन अवधि सहित
  • बड़ौदा पशुपालन एवं मछली पालन किसान क्रेडिट कार्ड (बीएएचएफ़केसीसी) योजना

    • काश्तकार सहित किसान, डेयरी/ पोल्ट्री किसान, मत्स्य पालक, वैयक्तिक या संयुक्त उधारकर्ता जो मत्स्य पालक किसान हैं, किराएदार किसानों सहित संयुक्त देयता समूह या स्वयं सहायता समूह
    • जो डेयरी पशु/ भेड़/ बकरी/ सूअर/पोल्ट्री/ पक्षी/ खरगोश का पालन पोषण करते है और जिनके पास अपना/ किराए पर/ पट्टे पर शेड उपलब्ध हैं/
  • बड़ौदा किसान क्रेडिट कार्ड (बीकेसीसी)

    • चारा फसल सहित अन्य फसलों की जुताई के लिए अल्पकालिक ऋण आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए.
    • फसल-पश्चात व्यय.
  • बड़ौदा किसान समूह ऋण योजना

    • लघु और सीमांत किसान
    • या तो मौखिक पट्टेधारी या बटाईदार के रूप में खेती कर रहे
  • बड़ौदा किसान तत्काल ऋण योजना

    • गैर मौसमी अवधि के दौरान कृषि एवं घरेलू उद्देश्यों के लिए तत्काल निधि की आवश्यकताओं को पूरा करने हेतु.
    • मौजूदा बड़ौदा किसान कार्ड धारक वैयक्तिक किसान / संयुक्त उधारकर्ता.
  • बड़ौदा स्वच्छता योजना

    • घरेलू शौचालयों के नवीकरण सहित शौचालयों का निर्माण
    • पेयजल सुविधाओं में सुधार, पानी की टंकी के निर्माण, बोरवेल से पानी का कनेक्शन लेने आदि के लिए वित्तपोषण
  • जैविक इनपुट की वाणिज्यिक उत्पादक यूनिट

    • फल और सब्जी / कृषि अपशिष्ट कम्पोस्ट उत्पादन यूनिट की स्थापना
    • जैव उर्वरक और जैव कीटनाशक उत्पादन इकाई की स्थापना
  • भंडारण संरचना परियोजनाओं का निर्माण

    • वैज्ञानिक भंडारण क्षमता अर्थात गोदाम, सूखे वेयरहाउस, कोल्ड स्टोरेज, कोल्ड चेन, साइलो और मार्केट यार्ड के निर्माण के लिए
    • नई परियोजनाओं के निर्माण हेतु वित्तपोषण के लिए उपर्युक्त सुविधाओं पर विचार किया जा सकता है.
  • स्वतच्छक भारत अभियान के अंतर्गत टॉयलेट का निर्माण

    • किसान, जेएलजी और एसएचजी के सदस्य
    • 6 माह की न्यूनतम अवधि के लिए हमारे बैंक के साथ बैंकिंग संबंध रखने वाले कमजोर आय वर्ग के व्यक्ति.
  • फसलों की खेती (वृक्षारोपण और बागवानी फसलों के अलावा)

    • बीज, उर्वरक, कीटनाशक आदि जैसे कृषि निवेशों की खरीद और मजदूरी, सिंचाई आदि के भुगतान के लिए.
    • भू-स्वामी या स्थायी किराएदार या पट्टेदार (पर्याप्त अवधि के लिए) या बटाईदार के रूप में फसलों की खेती में लगे व्यक्ति.
  • बीज, खाद, कीटनाशक आदि जैसे कृषि सामग्री का संवितरण

    • नकदी ऋण/बीपी/बीडी/एलसी/गारंटी आदि.
    • समय-समय पर संशोधित भारतीय रिजर्व बैंक/बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार.
  • किसानों के लिए स्मार्टफोन खरीदने हेतु वित्तपोषण

    • आज के समय की आवश्य कता. किसानों को स्मार्ट फोन की खरीद के लिए राशि का प्रयोग किया जाएगा.
    • फसलों की खेती में लगे हुए सभी व्यक्ति जो भूमि के स्वामी हों
  • वेयरहाउस रसीद के एवज में वित्तपोषण

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • पात्र व्यक्तियों को उपलब्ध कराए गए वेयरहाउस रसीद के एवज में ऋण प्रदान करना. पात्रता के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त कर लें
  • किसानों को अनुकूल सेवाएं प्रदान करने वाली वित्तपोषण एजेंसियों को वित्तपोषण

    • ट्रैक्टर, बुलडोजर, बोरिंग वेल के लिए ड्रिल रिग, नलकूप खोदना, कुंए के विनिर्माण के लिए उपकरण,
    • लिफ्ट सिंचाई, संयुक्त कटाई मशीन की खरीद, जरूरत के अनुसार किराए पर थ्रेशर, शीतागार का विनिर्माण, गोदाम किराए के आधार पर भंडारण सुविधा प्रदान करने के लिए वेयरहाउस, गोदाम, किराए पर किसानों को फसल के परिवहन हेतु ट्रक एवं ट्रेलर्स की खरीद
  • कृषि भवनों एवं संरचनाओं के निर्माण हेतु वित्तपोषण

  • डेयरी, मुर्गीपालन, मत्स्य पालन आदि उद्योग के विकास हेतु वित्तपोषण

  • किसान उत्पादक कंपनियों (एफपीसी) को वित्तपोषण

  • किसान को चार पहिया वाहन हेतु ऋण का वित्तपोषण

  • सिंचाई वित्तपोषण

    • मशीनरी का दृष्टिबंधक
    • ऋण राशि के अनुरूप भूखंड का मोर्गेज / तृतीय पक्ष गारंटी.
  • संयुक्त देयता समूह को वित्तपोषण

  • कृषि ट्रैक्टर और भारी कृषि मशीनरी का वित्तपोषण

  • स्वयं सहायता समूह (एसएचजी) के अंतर्गत वित्तपोषण

  • गोबर गैस / बायो गैस प्‍लांट का इंन्‍टॉलेशन

    • ऊर्जा के नवीकरणीय स्रोत के लिए ग्रामीण और अर्ध-शहरी स्थानों में सौर ऊर्जा गृह बिजली प्रणाली के लिए किसानों को वित्तपोषण प्रदान करना.
    • ऋण की अधिकतम राशि रु. 50000/- से अधिक ना हो.
  • सौर उर्जा गृह बिजली प्रणाली का इंस्टालेशन

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • सौर उर्जा प्रणाली का दृष्टिबंधक.
  • सोने के गहने/ आभूषणों के एवज में ऋण के लिए योजना

  • सोलर फोटोवोल्टिक पंप सेट के इंस्टालेशन के लिए

    • सोलर फोटोवोल्टिक वाटर पम्पिंग प्रणाली की खरीद के लिए
    • जिसमें पीवी ऐरे, मोटर पम्पिंग सेट, इंटर्कनेक्ट केबल्स और इलेक्ट्रॉनिक्स होते हैं.
  • खाद्य और कृषि प्रसंस्करण इकाईयों को कार्यशील पूंजी सहायता के लिए ओवरड्राफ्ट सुविधा

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • कार्यशील पूंजी आवश्यकताएं प्रदान करने के लिए.
  • छोटी दुग्धालय इकाइयों के वित्तपोषण हेतु योजना

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • 2 से 10 दुधारु पशुओं के साथ नई लघु डेयरी इकाई स्थापित करने के लिए
  • एनबीएफसी – एमएफआई को वित्तपोषण हेतु योजना

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • मांग ऋणमीयादी ऋण
  • प्रधान मंत्री मत्स्य संपदा योजना (पीएमएमएसवाय) वित्त पोषण की योजना

    • अंतर्देशीय मत्स्य पालन का विकास.
    • सागरीय कृषि एवं समुद्री सिवार की खेती सहित समुद्री मत्स्य पालन का विकास.
  • कृषि बुनियादी संरचना निधि के अंतर्गत वित्तपोषण के लिए योजना

    • प्राथमिक कृषि ऋण संस्था (पीएसीएस),
    • विपणन सहकारी समिति,
  • कृषि भूमि की खरीद के लिए योजना

    • बैंक ऋण से खरीदी गई भूमि का बंधक
    • कृषि भूमि और परती / बंजर भूमि को खरीदने उसे विकसित करने एवं उस पर खेती करने के लिए वित्तपोषण
  • शहरी बागवंत योजना

  • कॉर्पोरेट बीसी के साथ एसएचजी/जेएलजी में भागीदारी

  • Silos/Godowns for Storage of Agriculture Produce

    Financing new project i.e. acquisition/construction of Silos, storage facilities, plant & machinery etc. based on project cost including the takeover of existing units. Working capital requirements for the operational requirement of the project.

  • किसानों को दो पहिया (मोटरसायकल/स्कूटर) ऋण

  • हमारे बैंक से ऋण सुविधा का लाभ उठाने वाली खाद्य और कृषि इकाईयों को गोदाम/भंडारण रसीद के एवज में ऋण

    • खाद्य और कृषि प्रसंस्करण इकाईयों की कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए.
    • धिकतम रू. 10.00 करोड़ नकदी ऋण गिरवी सीमा.
  • प्लांटर कार्ड योजना

  • स्वयं की जमाराशियों (लाबोड / ओडीबीओडी) के एवज में ऋण / ओवरड्राफ्ट.

    • योजना के अंतर्गत दिशानिर्देश
    • कृषि एवं संबद्ध गतिविधियों के लिए
  • प्रधानमंत्री किसान उर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (पीएम- कुसुम योजना)

    • भूमिका प्रयोजन
    • विशेषताएं प्रयोजन के प्रकार
  • पराम्परागत वृक्षारोपण फसलें उगाने वाले संपदा / बागों की खरीद

    • उधारकर्ता को कृषि भूमि, किरायेदार किसानों, मौखिक पट्टों आदि के मालिक के रूप में कृषि गतिविधि में संलग्न होना चाहिए.
    • उधारकर्ता के पास अधिमानतः पैदावार वाली सम्पदा होनी चाहिए और उसे खरीदी जाने वाली एस्टेट का कायाकल्प करने की स्थिति में होना चाहिए.
  • बागवानी विकास हेतु योजना

  • सस्ते परिवहन के विकल्प के अंतर्गत कंप्रेस्ड बायोगैस संयंत्र (सीबीजी) के वित्तपोषण की योजना (एसएटीएटी)

    • कंप्रेस्ड बायोगैस संयंत्र की स्थापना के लिए वित्तजपोषण.
    • पूरे देश में सीबीजी संयंत्र की न्यूनतम डिजाइन क्षमता अर्थात 2 टन प्रतिदिन के कंप्रेस्ड बायोगैस संयंत्र
  • गैर संस्थागत उधारदाताओं से किसानों को ऋण मुक्ति

    • नियमित चुकौती करने वाले मौजूदा किसान उधारकर्ता.
    • ऐसे किसान जिनके खातों को उनके नियंत्रण से परे होने वाले कारणों की वजह से पुनिर्धारित किया गया है.
  • पीएम फॉरमलाइजेशन के अंतर्गत माइक्रो फूड प्रोसेसिंग इंटरप्राइजेस को वित्तपोषण सुविधा हेतु योजना (पीएम एफएमई योजना)

    • ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग को सुदृढ़ करते हुए संगठित सप्लाई चेन के साथ एकीकरण.
    • मौजूदा सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों, एफपीओ, स्वयं सहायता समूहों (एसएचजी) एवं सहकारियों द्वारा ऋण हेतु बेहतर उपलब्धता.
X
We use cookies (and similar tools) to enhance your experience on our website. To learn more on our cookie policy, please click here. By continuing to browse this website, you consent to our use of cookies.

Are you Bank of Baroda Customer?

This is to inform you that by clicking on continue, you will be leaving our website and entering the website/Microsite operated by Insurance tie up partner. This link is provided on our Bank’s website for customer convenience and Bank of Baroda does not own or control of this website, and is not responsible for its contents. The Website/Microsite is fully owned & Maintained by Insurance tie up partner.


The use of any of the Insurance’s tie up partners website is subject to the terms of use and other terms and guidelines, if any, contained within tie up partners website.


Proceed to the website


Thank you for visiting www.bankofbaroda.in