Enjoy Banking on the Go.
Download Mobile Banking App

Download
Banner

बड़ौदा वैयक्तिक ऋण कोविड-19

भारत सहित पूरा विश्व कोविड-19 की महामारी की अप्रत्याशित स्थिति का सामना कर रहा है. दुनिया भर में 180 से अधिक देश इस महामारी से प्रभावित हुए हैं और इसका मानव जाति पर बहुत बुरा असर पड़ा है. भारत में भी इसका प्रसार तेजी से हो रहा है और इस प्रसार को रोकने के लिए राज्य / केंद्र सरकार को शहरों/ राज्यों को लॉकडाउन करना पड़ा है. इस लॉकडाउन की स्थिति में कुछ समय के लिए नकदी उपलब्धता की समस्या उत्पन्न हो सकती है और इससे उबरने में मदद के लिए बैंक ने अपने रिटेल ऋणों के मौजूदा उम्दा ग्राहकों के लिए रियायातपूर्ण मूल्यांकन मानदंडों और कम ब्याज दर से युक्त नई वैयक्तिक ऋण योजना की शुरुआत की है. यह वैयक्तिक ऋण योजना ग्राहकों को मौजूदा संकटपूर्ण दौर से निपटने में सहायता करेगी.

लाभ

ग्राहक इस सुविधा का लाभ सट्टेबाजी के उद्देश्य को छोड़ किसी भी प्रयोजन से, जिसमें कोविड-19 के कारण अस्थायी नकदी उपलब्धता की समस्या भी शामिल है, कर सकते हैं.

विशेषताएं

उद्देश्य

सट्टेबाजी के उद्देश्य को छोड़ किसी भी प्रयोजन से, जिसमें कोविड-19 के कारण अस्थायी नकदी उपलब्धता की समस्या भी शामिल है.

लक्ष्य समूह

निम्नलिखित मौजूदा रिटेल आस्ति ग्राहक (चयनित ऋण खाते)
  • गृह ऋण (सभी प्रकार)
  • परिसंपत्ति के एवज में ऋण
  • ऑटो ऋण
न्यूनतम 6 माहों के संबंध के साथ, जहां:
  • संपूर्ण ऋण संवितरित हो और अधिस्थगन अवधि पूरी हो गई हो.
  • न्यूनतम 3 किस्तों का भुगतान किया हो
  • दिनांक 29.02.2020 तक खाता कभी भी एसएमए – 1 श्रेणी में न आया हो

गैर व्यक्ति और ओवरड्राफ्ट सीमा सुविधा का लाभ उठाने वाले उधारकर्ता पात्र नहीं है.

आवेदक/ सह आवेदक

पात्रता हेतु आधार रिटेल ऋण खाते के अनुसार

गारंटीकर्ता

मौजूदा पात्रता हेतु आधार रिटेल ऋण खाते के सभी गारंटीकर्ता प्रस्तावित वैयक्तिक ऋण में वैयक्तिक गारंटी प्रदान करेंगे.

ऋण सीमा

न्यूनतम: रु. 25000/-
अधिकतम: रु. 5.00 लाख

चुकौती अवधि

पात्रता हेतु आधार रिटेल ऋण खाते के अनुसार / 60 माह तक की अधिकतम परिपक्वता सीमा.

अधिस्थगन अवधि

अधिकतम: तीन माह (समग्र 60 माह की चुकौती अवधि में). अधिस्थगन अवधि के दौरान ब्याज प्रभारित किया जाएगा.

चुकौती क्षमता (एफओआईआर- नियत दायित्व एवं आय अनुपात)

किसी भी समय प्रस्तावित वैयक्तिक ऋण का ईएमआई बैंक के उधारकर्ता द्वारा उपर्युक्त उल्लिखित पात्रता मानदंड के अनुसार किसी भी रिटेल ऋण के लिए भुगतान किए जाने वाले कुल संचित ईएमआई के 15% से अधिक नहीं होना चाहिए.

ब्यूरो स्कोर कट ऑफ

सिबिल क्रेडिट विजन स्कोर 650

बीआरएलएलआर + एसपी + 2.75% प्रति वर्ष मासिक अंतराल के साथ
(ब्यूरो स्कोर पर विचार किए बगैर ब्याज दर)

दंड स्वरूप ब्याज : अतिदेय राशि/ नियम और शर्तों के गैर अनुपालन पर @ 2% की दर से दंड स्वरूप ब्याज लगाया जाएगा.

समय पूर्व भुगतान प्रभार: शुन्य

एकीकृत प्रोसेसिंग प्रभार : रु 500/- + लागू जीएसटी

  • यह मंजूरी अनुमोदन की तारीख से 3 महीने के लिए वैध है.
  • उधारकर्ता की सुविधा के लिए समान मासिक किस्त नियत की जाती है, जिसके अंतर्गत ऋण के लिए देय ब्याज निर्धारित की गयी चुकौती अवधि में विभाजित होता है. ऐसी सभी समान मासिक किस्तों की चुकौती को संपूर्ण भुगतान / ऋण खाते के निपटान के रूप में नहीं माना जा सकता. सभी समान मासिक किस्तों के भुगतान पर, बकाया राशि, यदि कोई हो, खाते में अतिदेय/ दंडस्वरूप ब्याज / ब्याज दरों में संशोधन के परिणाम स्वरूप अतिरिक्त ब्याज आदि जैसे अन्य आकस्मिक प्रभारों का भुगतान उधारकर्ता द्वारा अलग से किया जाएगा.
  • बैंक के प्रति देयता केवल तभी समाप्त होगी, जब ऋण खाते की बकाया राशि का भुगतान कर दिया जाता है और ऋण राशि में बकाया शून्य हो जाता है.
  • ऋण राशि पर ब्याज मासिक अंतराल के साथ दैनिक रूप से कम होने वाले शेष पर प्रति वर्ष की लागू दर के अनुसार लगाया जाएगा.
  • ब्याज दर बैंक के बीआरएलएलआर से संबद्ध है. संवितरण की तारीख पर लागू बीआरएलएलआर अगली रिसेट की तारीख तक लागू होगा. बैंक मासिक आधार पर ब्याज दर (बीआरएलएलआर की किसी भी घटक सहित) रिसेट करने का हकदार होगा.
  • ब्याज दर में वृद्धि / कमी को समायोजित करने के लिए बैंक अपने विवेकाधिकार पर ऋण की इएमआई राशि अथवा योजना के दिशानिर्देशों के अनुसार उल्लिखित अधिकतम निर्धारित अवधि के अधीन ऋण की अवधि घटा या बढ़ा सकता है.
  • अतिदेय राशि के भुगतान न करने / विलंबित भुगतान के लिए अतिदेय अवधि/ उल्लंघन/ अतिक्रमण/ स्वीकृति के किसी भी नियम और शर्तों के गैर-अनुपालन के लिए @ 2% प्रति वर्ष की दर से दंड स्वरूप ब्याज लगाया जाएगा.
  • बैंक अपने पास किसी भी प्रकार के कर, यदि इस लेनदेन के संबंध में राज्य/ केंद्र सरकार और/ या किसी अन्य प्राधिकरण द्वारा लगाया गया हो , के संग्रहण का अधिकार सुरक्षित रखता है.
  • उधारकर्ता द्वारा इसीएस/ एनएसीएच के माध्यम से इएमआई की वसूली के अधिदेश निष्पादित किए जाने हैं .
  • बीमा कवर क्रेडिट इंश्योरेंस, टर्म इंश्योरेंस के रूप में हो सकता है.
  • मौजूदा लिंक ऋण के लिए मौजूदा प्रतिभूति पर नकारात्मक धारणाधिकार लगाया जाएगा.

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top