Enjoy Banking on the Go.
Download Mobile Banking App

Download
Banner

ई-कॉमर्स के लिए बड़ौदा ओवरड्राफ्ट

अत्याधुनिक

  • ऑनलाईन आवेदन और ऑनलाईन मंजूरी – सीमा की मंजूरी के लिए शाखा में जाना आवश्यक नहीं.
  • कम टीएटी – 3 से 5 दिन
  • कागज रहित मंजूरी
  • इएमआई का बोझ नहीं
  • टर्नओवर पर आधारित ऋण सीमा
  • कोलेटरल रहित ऋण सुविधा
  • एनटीसी ग्राहकों का अभिवर्द्धन

    उत्पाद विशेषताएं

    • लक्ष्य समूह :- ऐसे विक्रेता, जो अमेजॉन पोर्टल के माध्यम से विनिर्माण/ कारोबार गतिविधियां करते हैं. अमेजॉन अपने पिछले रिकॉर्ड के आधार पर पात्र विक्रेताओं की पहचान करता है.
    • उद्देश्य :- खरीद/विनिर्माण/वस्‍तुओं की प्रोसेसिंग/ट्रेडिंग तथा अमेजॉन के माध्‍यम से प्राप्‍य राशियों के लिए कार्यशील पूंजी ऋण.
    • सुविधा का प्रकार और अवधि:- 12 माह के लिए ओवरड्राफ्ट
    • सीमा:- रु. 5 लाख से रु. 25 लाख
    • प्रतिभूति :- कोलेटरल रहित सुविधा

    ब्याज दर और प्रभार

    • ब्याज दर :- बैंक के 12 माह के एमसीएलआर से 3.45% अधिक + स्‍ट्रटेजिक प्रीमियम अर्थात वर्तमान में 12.15%.
    • प्रबंधन शुल्क :- ओवरड्राफ्ट सीमा का 1.35% प्रति वर्ष
    • निरीक्षण प्रभार :-रु. 1000/- प्रति निरीक्षण + वास्तविक वाहन और वहन किया गया फुटकर व्यय.

    अन्य नियम और शर्तें :

      • दस्तावेजीकरण प्रभार:- दस्‍तावेजीकरण हेतु वास्‍तविक स्‍टाम्‍प प्रभार आवेदक द्वारा वहन किया जाएगा तथा अन्‍य लागू प्रभार बैंक के दिशानिर्देशों के अनुसार लगेंगे (राज्य में लागू स्टाम्प शुल्क नियमों के अनुसार)
      • सीजीटीएमएसई शुल्क :- पात्र मामलों में सीजीटीएमएसई संबंधी वार्षिक शुल्क /नवीकरण शुल्क आदि का वहन व्यापारी द्वारा किया जाएगा.

    प्रतिभूति :

      • अमेजॉन फ्लैटफॉर्म से प्राप्‍त राशि का दृष्टिबंधक
      • अमेजॉन के साथ लॉजिस्टीक व्यवस्था के अंतर्गत रहनेवाले या व्यापारी के गोदान में स्थित स्टॉक का दृष्टिबंधक.

    चुकौती

      • ओवरड्राफ्ट 12 महीने के बाद समीक्षा के अधीन एक परिचालनगत सीमा के रुप में होगा. हमारे बैंक में रखे गए व्यापारी के खाते में अमेजॉन से भुगतान प्राप्त किया जाना है.
      • यदि उपर्युक्त भुगतान मासिक ब्याज की सर्विसिंग के लिए पर्याप्त नहीं है, तो उधारकर्ता को प्रत्येक माह के अंत में ब्याज दर के लिए राशि जमा करनी होगी.

    अंतिम देखा गया पेज

    X
    Back to Top