Enjoy Banking on the Go.
Download Mobile Banking App

Download
 ऋण और अग्रिम

क्योंकि सबकी
आवश्यकताएं अलग हैं.

आपके सपनों को साकार करने के लिए
प्रस्तुत हैं, ऋण की विविध श्रृंखलाएं.

बड़ौदा आरोग्यधाम ऋण

प्रयोजन

नए नर्सिंग होम / अस्पताल तथा पैथॉलॉजिकल लैबोरेटरी स्थापित करने के लिए वित्तीय आवश्यकताओं, मौजूदा नर्सिंग होम / अस्पताल सहित पैथॉलॉजिकल लैबोरेटरी का विस्तार / नवीनीकरण / आधुनिकीकरण करने हेतु, मेडिकल चिकित्सा उपकरण तथा कार्यालय उपकरण जैसे कम्प्यूटर, एयर कंडिशनर्स, कार्यालय फर्नीचर, एम्ब्युलेन्स आदि की खरीद एवं कार्यशील पूंजी आवश्यकताओं के लिए है.

पात्रता

सभी संस्थाएं अर्थात एमएसएमई, प्रोप्राइटरशिप, साझेदारी फर्म, प्राइवेट लिमिटेड कंपनियां और ट्रस्ट के अलावा अन्य उद्यम जो समाज को मेडिकल / पैथॉलॉजिकल चिकित्सा सेवाएं प्रदान कर रहे हैं और जिनका टर्न ओवर रु.150/- करोड़ तक है.

टिप्पणी

प्रवर्तकों को किसी प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय से चिकित्सा विज्ञान के किसी भी उपखंड में आवश्यक अर्हता प्राप्त होनी चाहिए और न्यूनतम 2 वर्षो का अनुभव होना चाहिए.

सीमा

  • ग्रामीण केंद्र - रु. 0.50 करोड़
  • अर्धशहरी केंद्र - रु. 6.00 करोड़
  • शहरी / महानगरी केंद्र – रु. 12.00 करोड़
  • मेट्रो केंद्र – रु. 15.00 करोड़

टिप्पणी

  • वार्षिक बिक्री या सकल आय के 10% तक कार्यशील पूंजी सीमा, बशर्ते सावधि ऋण और कार्यशील पूंजी सुविधा दोनों की अपेक्षा रखने वाले ऋणकर्ताओं को उपरोक्त अधिकतम सीमा के 20% तक कार्यशील पूंजी सीमा दी जा सकती है.
  • यदि ऋणकर्ता को केवल कार्यशील पूंजी सीमा की जरूरत है तो उपरोक्त सीमा का 20%

प्रतिभूति

  • नर्सिंग होम/अस्पताल की भूमि और भवन / परिसर का साम्यिक बंधक
  • ऋण की राशि से अलावा राशि से चिकित्सा उपकरण / कार्यालय उपकरणों का दृष्टिबंधक
  • ट्रस्ट के मामले में ट्रस्टियों और लिमिटेड कंपनियों के मामले में प्रवर्तक निदेशकों की व्यक्तिगत गारंटी
  • दवाइयां, प्राप्य राशि और अन्य प्रभारित करने योग्य मौजूदा आस्तियों का दृष्टिबंध.
  • प्राइवेट लिमिटेड कंपनियों के मामले में प्रवर्तक निदेशकों की भार रहित परिसंपत्तियों पर प्रभार, या प्रवर्तक के रिश्तेदारों के व्यक्तिगत नाम पर एफडीआर या बंधक संपत्ति के रुप में संपार्श्विक.

मार्जिन

यदि संपर्श्विक अपर्याप्त है तो उच्च मार्जिन 25%.

  • रु. 3.00 करोड़ रुपए से अधिक – आधार दर + 1.50% प्रतिवर्ष
  • रु. 3.00 करोड़ रुपए से अधिक तथा रु. 10.00 करोड़ तक– आधार दर + 2% प्रतिवर्ष
  • रु. 10.00 करोड़ से अधिक तथा रु. 15.00 करोड़ तक– आधार दर + 3% प्रतिवर्ष

पुनर्भुगतान अवधि

अनुमानित नकदी प्रवाह के आधार पर आस्थगन सहित 35 माह से 84 माह.

अंतिम देखा गया पेज

X
Back to Top